सोमवार, 4 अक्तूबर 2010

क्या गूगल बज, एक ब्लॉग अग्रीगेटर की भूमिका निभा सकता है

Google Buzz

बहुत से ब्लॉगर इस मंच से जुड़ चुके हैं । अभी इस माध्यम में कार्य और विकास चल रहा है । यह हिन्दी और अन्य भारतीय भाषाओं में अपनी सेवा उपलब्ध करा रहा है । इसमे शामिल होने से आपके ब्लॉग समर्थक अपने आप इससे जुड़ जाते हैं । हिन्दी ब्लॉग संकलको से आए दिन परेशान होने वाले ब्लॉगर इस मंच का उपयोग अपने ब्लॉग को अन्य लोगों तक  पहुँचाने के लिए कर सकते हैं ।

कई बार तो इसमें बड़े ही मजेदार संवाद भी हुए हैं
एक झलक यहाँ देखिये 

ज्यादा जानकारी यहाँ उपलब्ध है
 http://www.google.com/buzz


क्या लगता है आपको

5 टिप्‍पणियां:

राज भाटिय़ा ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति। धन्यवाद

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

मुझे आपके सुझाव पर कुछ सोचने का समय चाहिये। प्रथम दृष्ट्या तो हाँ है।

प्रवीण त्रिवेदी ╬ PRAVEEN TRIVEDI ने कहा…

कुल ब्लोग्गेर्स का कितना प्रतिशत जी मेल इस्तेमाल करता है ...यह इस पर निर्भर करेगा !

rashmi ravija ने कहा…

दूसरों की पोस्ट पढने और अपनी पोस्ट उन तक पहुंचाने के लिए लोग बज़ का उपयोग कर रहें हैं....और यह कारगर भी सिद्ध हो रहा है...कितनी बार कई जगह लोग कमेन्ट करते हैं...'बज़ से इस पोस्ट तक पहुंचा'...यहाँ तक कि पुरानी पोस्ट भी रिशेयर की जाती है...मुझे तो लाभकारी लगता है यह आइडिया

मुन्नी बदनाम ने कहा…

very good darling