सोमवार, 7 मार्च 2011

आम आदमी के नाम एक पत्र

डॉ देवी शेट्टी ख्याति प्राप्त कार्डियक सर्जन हैं और एमसीआई के सदस्य हैं


8 टिप्‍पणियां:

डॉ टी एस दराल ने कहा…

ख़त कहाँ है डॉ साहब ?

डॉ महेश सिन्हा ने कहा…

@Dr. Daral जी ब्लोगर ने पता नहीं क्या किया, फिर से लगा दिया है , बताने के लिए धन्यवाद्

डॉ टी एस दराल ने कहा…

बेशक गरीबों के लिए बहुत दुखदायी हो सकता है अब प्राइवेट अस्पतालों में इलाज ।
आशा है कि सरकार समझेगी , गरीबों का दुःख ।

राज भाटिय़ा ने कहा…

जब तक सरकार समझेगी , गरीबों का दुःख । तब तक गरीब मर ही जायेगा दुख सह सह कर, धन्यवाद इस खत को हम तक पहुचाने के लिये

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

सरकार की असंवेदनशीलता अफसोसजनक है....

cmpershad ने कहा…

जब सरकार ही कसाई हो जाए तो दार-ओ-रसन से कैसे बचा जाय :(

ZEAL ने कहा…

Yes, we need to protest against this cruel decision.

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

कंगाली में आटा गीला।