शनिवार, 5 सितंबर 2009

राजशेखर रेड्डी ने इतिहास कायम कर दिया

आन्ध्र प्रदेश के मुख्य मंत्री श्री राजशेखर रेड्डी का एक दुर्घटना  में देहावसान हो गया. उनकी मृत्यु के बाद उमडे जन सैलाब ने स्वंत्रता भारत में एक इतिहास रच दिया . जनता को रोकने के लिए उनके पुत्र ने उनके शरीर को एक घंटे पहेले  दर्शन स्थल से स्थानांतरित  करवा दिया क्योंकि जन सैलाब नियंत्रण में नहीं आ  रहा था . ऐसी जनता की श्रद्धांजलि स्वतंत्र भारत में एक मिसाल बन गयी है. उनकी मृत्यु के बाद १५० से ज्यादा लोगों ने आन्ध्र प्रदेश में अपनी इह लीला समाप्त कर ली . श्रद्धांजलि  ऐसे जन नेता को .   

4 टिप्‍पणियां:

Udan Tashtari ने कहा…

श्रद्धांजलि

संगीता पुरी ने कहा…

नेता हो तो ऐसा .. उन्‍हें हार्दिक श्रद्धांजलि !!

अर्शिया ने कहा…

ईश्वर उनकी आत्मा को शान्ति दे।
{ Treasurer-S, T }

काव्या शुक्ला ने कहा…

रेडडी जैसे नेताओं को देखकर ही नेताओं का असली रूप जाना जा सकता है। पर दुर्भाग्य की बात यह है कि ऐसे लोग इतनी जल्दी दुनिया को छोड जाते हैं।
हार्दिक श्रद्धांजलि।
वैज्ञानिक दृ‍ष्टिकोण अपनाएं, राष्ट्र को उन्नति पथ पर ले जाएं।