गुरुवार, 10 सितंबर 2009

हम कब तक अपराधियों को महिमा मंडित करते रहेंगे


हम कब तक अपराधियों को महिमा मंडित करते रहेंगे

3 टिप्‍पणियां:

राज भाटिय़ा ने कहा…

जब तक हम अपने स्वार्थ को भुल नही जाते.

संजय तिवारी ’संजू’ ने कहा…

लेखनी प्रभावित करती है.

Anil Pusadkar ने कहा…

जब तक़ संसद और विधान सभा के चुनाव होते रहेंगे।