रविवार, 16 जनवरी 2011

राज्य सभा में आप याचिका प्रस्तुत कर सकते हैं ।

मेरे लिए भी यह एक नयी जानकारी है ।
सौजन्य : विज्ञापन नवभारत रायपुर

6 टिप्‍पणियां:

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

पर कोई समस्या भी तो हो।

राज भाटिय़ा ने कहा…

कोई एक समस्या हो तो ना...पुरी जिन्दगी अब शिकायत करने मे ही गुजर जायेगी जी, ओर सुनेगा कोन? आप क्या सोचते हे लोगो ने शिकायत नही की होगी?

Learn By Watch ने कहा…

प्रिय,

भारतीय ब्लॉग अग्रीगेटरों की दुर्दशा को देखते हुए, हमने एक ब्लॉग अग्रीगेटर बनाया है| आप अपना ब्लॉग सम्मिलित कर के इसके विकास में योगदान दें - धन्यवाद|

अपना ब्लॉग, हिन्दी ब्लॉग अग्रीगेटर
अपना खाता बनाएँ
अपना ब्लॉग सम्मिलित करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Vivek Rastogi ने कहा…

इसके बारे में तो और जानना पड़ेगा।

डॉ टी एस दराल ने कहा…

काम की जानकारी दी है ।
आजकल कहाँ व्यस्त हो गए हैं डॉ सिन्हा ?

Kajal Kumar ने कहा…

यह बहुत महत्वपूर्ण जानकारी है आम नागरिक के लिए.

पर सवाल ये है कि क्या सदनों के न चलने की जो परंपरा चल निकली है उसके चलते क्या कभी जानकारी नागरिक को मिल भी पाएगी ! दूसरे, क्या चिन्हाकित महत्वपूर्ण मुद्दों पर सरकार की प्रतिक्रिया से भी नागरिकों परिचित कराया जाएगा ?

यदि दोनों का उत्तर नकरात्मक है तो यह भी हाथी के नकली दांतों से अधिक कुछ नहीं ....