शुक्रवार, 19 नवंबर 2010

यह देश कैसे और किसके द्वारा चलाया जा रहा है ओपेन मैगजीन का खुलासा


ये सबूत सुप्रीम कोर्ट में दिये गए हैं 
Inside the networks of lobbyists and power brokers that dictate how this country is run.

3 टिप्‍पणियां:

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

वोट देकर हम तो सोच बैठे थे कि देश हम चला रहे हैं।

cmpershad ने कहा…

बहुत पहले शायद चर्चिल ने कहा था कि भारत तो ईश्वर के भरोसे चल रहा है :)

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ ने कहा…

सचमुच राम भरोसे चल रहा है सब कुछ।

---------
पति को वश में करने का उपाय।
मासिक धर्म और उससे जुड़ी अवधारणाएं।