मंगलवार, 27 अप्रैल 2010

MCI के गिरफ्तार अध्यक्ष के सहयोगी रायपुर में निरीक्षण कर रहे हैं

यह खबर तो सभी को ज्ञात है की डॉ केतन देसाई को एमसीआई के काम में गड़बड़ी के लिए गिरफ्तार किया गया है . उन्होने प्रधानमंत्री कार्यालय में अपनी पहुँच होने की धौंस देकर पहले तो बचने का प्रयास किया लेकिन बाद में बोलना पड़ा .
उन्होने करीब 50 लोगों को इस घपले में संलग्न किया था जिसका मुख्य सूत्रधार एक बड़े अधिकारी का बेटा है . देश की राजधानी में सबसे ज्यादा इन्ही पावर ब्रोकर की ही चलती है , चाहे सरकार किसी की भी हो . ज्यादातर इनका नाम कोई नहीं जानता न ये किसी मामले में फँसते हैं . बोफ़ोर्स मामले में पहली बार इनका नाम सामने आया था .
डॉ केतन देसाई के प्रमुख सहयोगी जाने जाने वाले डॉ सुरेश शाह कल रायपुर मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण करते देखे गए !! सोच सकते हैं कितनी पहुँच होगी इनकी ? नाम सामने आने पर भी खुले आम घूम रहे हैं .

5 टिप्‍पणियां:

शिक्षामित्र ने कहा…

धीरे-धीरे उन की गर्दन तक भी पुलिस की हाथ पहुंचेगी,ऐसा मानना चाहिए। पर कहीं ऐसा न हो कि घूस लेने वाला घूस देकर ही मामले को रफा-दफा करवा दे।

ललित शर्मा ने कहा…

घूस लेते पकड़े गए और घूस देकर छूट गए।

अब ये उत्कोच की नई परिभाषा गढ रहे हैं।

चोरों से चौकीदारी करवा रहे हैं।

राज भाटिय़ा ने कहा…

जनाब चोर उच्च्को के राज मै यह आम बात है

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

निन्दनीय ।

डॉ टी एस दराल ने कहा…

बेहद शर्मनाक।