गुरुवार, 20 मई 2010

आधा देश बारूद की ढेर पर बैठा है और यूपीए मनाएगा अपनी वर्षगांठ, कुछ तो शर्म करो

?

5 टिप्‍पणियां:

Udan Tashtari ने कहा…

शर्म मगर उनको आती नहीं!!

सुनील दत्त ने कहा…

इनके द्वारा पोषित आतंकवादी आगे बड़कर हिन्दूस्थान पर हमला कर रहे हैं ये तो इन गद्दारों के लिए खुशी की बात है

पी.सी.गोदियाल ने कहा…

वो इसलिए कि ताकि पूरा देश ही जल्दी उस ढेर पर बैठ जाए !

राज भाटिय़ा ने कहा…

अजी लोग भुखे मर रहे है, ओर यह कमीने गरीबो की हड्डियो को चुसेगे उस पार्टी मै

दिगम्बर नासवा ने कहा…

राजनेता और शर्म .... मुझे तो कोई रिश्ता नज़र नही आता ....