बुधवार, 19 मई 2010

चिदंबरम जी देश के गृह मंत्री के पास अधिकार नहीं है तो क्या दिग्विजयसिंग के पास है

देश के गृह मंत्री ने ये बयान दिया की उनके पास सीमित अधिकार हैं . बयानों से तो यही लग रहा है अधिकार दिग्विजयसिंग  के पास हैं . उन्होने कहा था बीजेपी के सेटिंग है नक्सलियों के साथ बीजेपी की बिडिग ज्यादा है .
इसका क्या मतलब है इसका खुलासा करेंगे देशवाशियों के सामने .
कौन है इस देश में सरकार चलाने वाला ?
दिग्विजयसिंग का छत्तीसगढ़ से क्रोध तो समझ में आने वाली बात है क्योंकि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री रहते हुए एक काँग्रेस नेता के घर मार खानी पड़ी थी उनको लेकिन नक्सल समस्या आज किसी राज्य  की नहीं देश की समस्या बन चुकी है .

4 टिप्‍पणियां:

पी.सी.गोदियाल ने कहा…

सारे अधिकार मोहतरमा सोनिया के पास है , जो नहीं चाहती कि ....दिग्गू daadaa तो बस एक और मोहरे का काम कर रहे है !

sumit_thehistoryman ने कहा…

bahut acchey . kya baat kahi hai

राज भाटिय़ा ने कहा…

अगर जनता जागरुक हो तो इन्हे एक दिन मै बता दे कि इन सब नेतओ की क्या ओकात है.... ओर यह...

संजीव तिवारी .. Sanjeeva Tiwari ने कहा…

दिग्विजय की बतकही टीवी में रोज आ रही है, वे अपने आप को नक्‍सल समस्‍या निदान विशेषज्ञ के रूप में पेश कर रहे हैं, मेरे खयाल में यह उनका गृह मंत्री बनने की योग्‍यता रखने का ढि़ढोरा है. बीडिंग किसकी है यह तो स्‍पष्‍ट है.

राज्‍य और केन्‍द्र शासन में वैचारिक मतैक्‍य व इच्‍छा शक्ति जब तक नही होगी बेकसूर मरते रहेंगें.