शुक्रवार, 4 दिसंबर 2009

बेनामी टिप्पणी ने नौकरी से निकलवाया

ग्रीन्बौम के ब्लॉग में किसी ने बेनामी रहते हुए गाली दी . पहली बार तो उसने स्पाम बटन दबा कर छोड़ दिया . दुबारा जब फिर से ऐसा हुआ तो उसने उस बेनामी का IP पता पता लगाया . यह एक स्कूल का निकला . उसने स्कूल को यह बात बताई कि शायद किसी विद्यार्थी ने शरारत की है. स्कूल ने जांच की तो पता चला यह एक नौकर ने की थी . नौकर ने पकडे जाने पर इस्तीफ़ा दिया.
सन्दर्भ : वेब प्रो न्यूज़

11 टिप्‍पणियां:

रंजन ने कहा…

अनुकरणीय..

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ ने कहा…

अनानिमस प्रमियों, सावधान।
------------------
सांसद/विधायक की बात की तनख्वाह लेते हैं?
अंधविश्वास से जूझे बिना नारीवाद कैसे सफल होगा ?

Mohammed Umar Kairanvi ने कहा…

बेनामी रहकर भी उसने इतना नाम कमा लिया, खेर हमें इससे सबक लेना चाहिए,

ललित शर्मा ने कहा…

जानकारी के लिए आभार

ज्ञानदत्त G.D. Pandey ने कहा…

शरीफ बेनाम था। यहां तो लोग अनानिया कहते हैं कि वे बेनामी टिप्पणक हैं! :)

दिगम्बर नासवा ने कहा…

बेनामी लोगों के लिए चेतावनी .......

Suman ने कहा…

nice

Suman ने कहा…

nice

राज भाटिय़ा ने कहा…

अजी मै तो हर बार इन अनामिका ओर अनामी को कहता हुं सावधान कही किसी की पकड मै आ गये तो जुर्माना केसे दोगे???

Ratan Singh Shekhawat ने कहा…

अब तो बेनामियों को सबक लेना चाहिए

विनोद कुमार पांडेय ने कहा…

सावधान हो जाए बेनामी लोग..जनता जागरूक हो गयी है..बढ़िया समाचार आभार