शनिवार, 5 दिसंबर 2009

H1N1 फ्लू ने फिर दस्तक दी

रायपुर में इस बीमारी से पहली मृत्यु  औए कुछ और  लोगों के इससे ग्रसित होने की सम्भावना के साथ इसने फिर एक बार दस्तक दी है . जैसी की सम्भावना व्यक्त की जा रही थी वैसा ही हुआ , ठण्ड की शुरुआत के साथ ही H1N1 फ्लू ने एक बार फिर से
अपने लक्षण दिखाने प्रारंभ कर दिए .कहा जाता है बीमारी अमीर ya गरीब में कोई भेद नहीं करती, ऐसा ही देखा जा रहा है. विश्व स्वास्थ्य संगठन की वेब साईट के कुछ लिंक नीचे दिए गए हैं जिनसे काफी जानकारी मिल सकती है .
कुछ विरोध के कारण इस बीमारी का नाम H1N1 फ्लू रखा गया है लेकिन अभी  भी कई समाचार पत्र इसको पुराने नाम से ही पुकार रहे हैं ?

एक मशीन  जो कई मरीजों को बचा सकती है शायद, मेरी जानकारी के अनुसार हमारे देश में उपलब्ध नहीं है-ECMO .


Use of the pandemic (H1N1) 2009 vaccines

Pandemic (H1N1) 2009

What can I do?

7 टिप्‍पणियां:

निर्मला कपिला ने कहा…

ये एक और नया फ्लू? तौबा । भगवान ही रखवाला है वर्ना सरकार?-----

cmpershad ने कहा…

फ़्लू नाम की बीमारी पचास के दशक से है .... इसी का नया रूप है स्वाइन फ़्लू जिसका यह वर्गीकरर्ण किया गया है। ऐसी बीमारियां पहले भी थीं और पहले भी लोग प्रभावित होते रहे हैं और अब भी हैं। अंतर केवल इतना है कि अब मीडिया को प्रचार का एक और मसाला मिल गया है। कुछ सौ या हज़ार लोग आज भी विभिन्न बीमारियों से मर रहे हैं पर वे मीडिया की टीआरपी नहीं बढाते इसलिए चर्चा में नहीं है॥

राज भाटिय़ा ने कहा…

अजी दिन मै कई बार भाप ले, तुलसी ओर पुदीने की गर्म गर्म चाय लगातार पिये, घर को गर्म रखे, सफ़ाई रखे, ओर डाकटर के पास जल्द जाये, दिल मै कोई डर मत रखे सब से अच्छा फ़लू मै खुब आराम करे

ज्ञानदत्त G.D. Pandey ने कहा…

यह रिबाउण्ड तो प्रेडिक्टेड था। पर शायद याह उतना खतरनाक था/है नहीं, जितना मीडिया ने बनाया।

राजेश बुढाथोकी 'नताम्स' ने कहा…

Nice Blogg!! Nice post. Keep it up.
www.onlinekhaskhas.blogspot.com

दिगम्बर नासवा ने कहा…

आपकी जानकारी और लिंक का बहू बहुत शुक्रिया .........

अल्पना वर्मा ने कहा…

Sardi ke saath is ka prakop badhane ki sambhavna pahle se hi batayi ja rahi thi.
UAE mein to ab iske liye vaccine available hain.shayd bharat mein bhi aa gaye honge.